DUET PG Score Card 2021
NHAI Recruitment 2021
Bihar Board 12th Dummy Admit Card 2022
RBI Assistant Notification 2021
Jee Advanced 2021 Result
NIACL Assistant Recruitment 2021
SBI PO Online Form 2021

Bihar Teacher Recruitment 2021: बिहार में चार विषयों के लिए नहीं मिल रहे शिक्षक, खाली जा रहे पद

Bihar Teacher Recruitment बिहार में दूसरे चरण की शिक्षक बहाली की प्रक्रिया जारी है। जिले के अधिसंख्य प्रखंडों एवं पंचायतों को कई विषयों के शिक्षक नहीं मिल रहे हैं। शिक्षक नियोजन में भाषागत विषयों के पद खाली रह जा रहे हैं।

Bihar Teacher Recruitment

बिहार में सरकारी स्‍कूल में टीचर की नौकरी के लिए कितनी मारामारी है, यह भला किसे बताने की जरूरत है। बड़ी संख्‍या में प्रशिक्षित शिक्षक ऐसे हैं, जिनका चयन सरकारी स्‍कूलों में नहीं हो पा रहा है। दूसरी तरफ, राज्‍य में चल रही शिक्षक नियोजन प्रक्रिया के लिए कई विषयों में शिक्षा विभाग को टीचर ही नहीं मिल रहे हैं। मिली जानकारी के अनुसार सामाजिक विज्ञान विषयों के लिए खूब अभ्‍यर्थी आ रहे हैं, लेकिन हिंदी, संस्कृत और उर्दू के शिक्षक ही नहीं मिल रहे हैं। हिंदी प्रदेश की मुख्य भाषा है, लेकिन कई पंचायतों में हिंदी के पद खाली रह गए हैं।

Bihar Teacher Recruitment 2021 – Apply & download Notification at Bssc.bihar.gov.in

OrganizationBihar school education board – bseb
Vacancy nameTeacher
No of vacancy94000+ posts
Last Updated on:,
CategoryTeacher Vacancy 2021
Application start date: -2021
Application last date:Within 30 days
Qualification type10th 12th pass govt jobs / graduate govt jobs
Exam Date: –
Official websiteBssc.bihar.gov.in
Location typeCentral Government Jobs

Bihar Govt Teacher 2021 Vacancy Details

Bihar school education board – bseb releases various recruitment notifications every year to fill up vacant positions, this year 2021 going to fill Teacher vacancy to operate organization activities normally.

PostTotal
Bihar Primary Teacher42606 
Middle School Teacher28638 +
Basic Education Teacher391
Higher Secondary Teacher32916 
Computer Teacher1000 

उर्दू के लिए शिक्षकों का और अधिक टोटा

Bihar Teacher Recruitment प्रदेश की द्वितीय राजभाषा उर्दू की तो हालत और खराब है।  जिले में उर्दू के अधिसंख्य शिक्षकों के पद खाली रह गए हैं। जानकारों का कहना है कि शिक्षक नियोजन में शामिल होने के लिए अभ्यर्थियों का भाषागत विषयों से स्नातक होना अनिवार्य है। लेकिन देखा जा रहा है कि भाषा में छात्रों की रुचि कम होतीे जा रही है। इंटर के बाद विद्यार्थी विज्ञान विषयों के प्रति ज्यादा रुचि दिखा रहे हैं। उर्दू भाषा के लिए यह स्थिति दूसरे भी कई जिलों में देखी गई है। बगल के भोजपुर जिले में भी उर्दू के शिक्षकों के कई पद खाली रह गए हैं।

प्रारंभिक शिक्षक नियोजन 2019-20 में

विषय : कुल पद : नियोजन

नौबतपुर प्रखंड

हिंदी : 4 : 0

संस्कृत : 16 : 2

उर्दू : 5 : 0

पुनपुन प्रखंड  

हिन्दी : 8 : 2

नौबतपुर नगर पंचायत

अंग्रेजी : 2 : 1

पटना सदर

उर्दू : 3 : 2

मोकामा

उर्दू : 9 : 3

अथमलगोला

उर्दू : 15 : 6

बेलछी

उर्दू : 9 : 2

घोसवरी

उर्दू : 8 : 2

मनेर

उर्दू : 4 : 3

दुल्हिनबाजार

उर्दू : 6 : 4

धनरुआ

संस्कृत : 4 : 2

हिन्दी : 13 : 11

फतुहा

हिन्दी : 10 : 9

संस्कृत : 5 : 4

उर्दू : 1 : 0

दनियावां

हिन्दी : 4 : 3

बख्तियारपुर

हिन्दी : 13 : 8

बिहटा

संस्कृत : 20 : 5

विक्रम

संस्कृत : 11 : 6

Bihar Teacher Recruitment: बिहार में 3627 शिक्षकों की हुई बहाली, पंचायतों के लिए काउंसिलिंग कल से |

Bihar Teacher Recruitment बिहार में शिक्षक नियोजन की प्रक्रिया हुई तेज अब तक प्रखंड स्‍तर पर 3627 शिक्षकों की नियुक्ति 1635 पद रह गए रिक्त पंचायत शिक्षक अभ्यर्थियों की नियुक्ति के लिए काउंसिलिंग 12 जुलाई से प्रखंड मुख्यालयों में होगी

Bihar Teacher Recruitment बिहार में शिक्षा विभाग की ओर से पिछले चार दिनों में 3627 शिक्षकों की नियुक्ति हुई है। कुल 5262 पदों पर नियुक्ति होनी थी, शेष 1635 पद अभी खाली रह गए हैं। इस दौरान प्रखंड एवं नगर निकायों में कक्षा एक से लेकर 8 तक में शिक्षकों की नियुक्ति की गई है। पांच जुलाई से राज्य में नियोजन चल रहा था जो आठ तक चला। अब सोमवार यानी 12 जुलाई से पंचायत शिक्षक यानी कक्षा पहली से पांचवीं तक के लिए शिक्षकों की नियुक्ति प्रक्रिया शुरू होगी।

राज्‍य में कक्षा छह से आठ तक के लिए कुल 71 नगर निकायों में 258 शिक्षकों का चयन किया गया। वहीं कक्षा एक से पांच वर्ग तक के लिए राज्य के 68 नगर निकायों 495 अभ्यर्थियों का चयन किया गया। वहीं प्रखंडों में कक्षा 6 से 8 वर्ग के लिए 1,755 शिक्षकों का चयन किया गया। पंचायतों में कक्षा एक से पांच वर्ग तक के लिए 1,119 शिक्षकों का चयन किया गया।

राज्य में पंचायत शिक्षक अभ्यर्थियों की नियुक्ति के लिए काउंसिलिंग12 जुलाई से प्रखंड मुख्यालयों में होगी। ये वो नियोजन इकाइयां हैं जहां पर पटना उच्च न्यायालय के आदेश के आलोक में छूटे हुए दिव्यांग शिक्षक अभ्यर्थियों ने 11 से 12 जून तक आवेदन किए थे। इससे पहले पांच जुलाई से उन नगर निकाय नियोजन इकाइयों के शिक्षक अभ्यर्थियों की नियुक्ति के लिए काउंसिलिंग की गई जहां छूटे हुए दिव्यांग अभ्यर्थियों के आवेदन नहीं पड़े थे। ऐसे 70 फीसद नियोजन इकाई थे।

Bihar Teacher Recruitment शिक्षा विभाग के अपर मुख्य सचिव संजय कुमार के मुताबिक काउंसिलिंग में अभ्यर्थियों के लिए अपना फोटोयुक्त पहचान पत्र (आधार/ पैन/ ड्राइविंग लाइसेंस आदि) लाना अनिवार्य है। अभ्यर्थियों को काउंसिलिंग में शैक्षणिक एवं प्रशिक्षण समेत अन्य जो प्रमाण पत्र लेकर आना है और नियोजन इकाइयों को कोविड प्रोटोकाल का पालन करना होगा। डीईओ कार्यालय द्वारा नियोजन इकाईवार संबंधी आवश्यक सूचना एनआइसी की वेबसाइट पर अपलोड किया जाएगा। चयनित अभ्यर्थियों के सत्यापन योग्य सभी प्रमाण पत्र अगले कार्य दिवस पर अपराह्न चार बजे शिक्षा विभाग द्वारा उपलब्ध पोर्टल पर अपलोड किया जाएगा।

Bihar Teacher Recruitment: शिक्षक भर्ती प्रक्रिया का दूसरा चरण अगस्‍त से, बिहार सरकार ने किए कई बदलाव |

Bihar Teacher Recruitment बिहार में प्रारंभिक शिक्षकों की बहाली के लिए पहले चरण हुई गड़बड़ी के बाद शिक्षा विभाग ने दूसरे चरण की काउंसिलिंग में सतर्कता बरतने का निर्देश नियोजन इकाइयों को दिया है। दो, चार और नौ अगस्त को दूसरे चरण की काउंसलिंग की तिथि पहले से निर्धारित है। इसकी तैयारियों को लेकर प्राथमिक शिक्षा निदेशक डा.रणजीत कुमार सिंह ने शनिवार को वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से सभी जिला शिक्षा अधिकारियों एवं जिला कार्यक्रम अधिकारियों के साथ समीक्षा की।

निदेशक ने जिलों के अधिकारियों को आदेश दिया कि दूसरे चरण के साथ ही 400 नियोजन इकाइयों के अभ्यर्थियों की मेधा सूची तैयार होगी, जिनकी काउंसिलिंग और मेधा सूची गड़बड़ी के चलते रद की गई थी। मेधा सूची की जांच होगी और काउंसिलिंग के दौरान नोडल अधिकारी तैनात रहेंगे। 2 अगस्त को नगर निकाय नियोजन इकाई, 4 अगस्त को प्रखंड नियोजन इकाई और 9 अगस्त को पंचायत नियोजन इकाई के अभ्यर्थियों की काउंसिलिंग होगी। इससे पहले 27 जुलाई को नियोजन इकाई द्वारा मेधा सूची का सार्वजनीकरण किया जाएगा। यदि नियोजन इकाइयों के स्तर से काउंसिलिंग की तैयारियां मुकम्मल नहीं पायी गईं तो काउंसिलिंग की तिथि बढ़ायी जाएगी। इसका निर्णय शिक्षा विभाग की उच्‍चस्तरीय समीक्षा बैठक में जल्द लिया जाएगा।

प्रमाण पत्रों को पोर्टल पर अपलोड करना अनिवार्य

Bihar Teacher Recruitment पहले चरण की जांच रिपोर्ट में यह पाया गया कि काउंसिलिंग के चार-पांच दिन बाद भी चयनित शिक्षक अभ्यर्थियों के प्रमाण पत्रों को पोर्टल पर अपलोड नहीं किया गया। काउंसिलिंग के अगले दिन नियोजन इकाई को सभी प्रमाण पत्रों को जिला कार्यक्रम पदाधिकारी को सौंपना होगा, ताकि उन प्रमाण पत्रों को विभागीय वेबसाइट पर शीघ्र अपलोड किया जा सके।

नियोजन इकाइयों को हिदायत

  • तय समय से काउंसिलिंग की प्रक्रिया आरंभ करने का निर्देश
  • नियोजन समिति के सभी सदस्यों की मौजूदगी जरूरी
  • काउंसिलिंग में फोटोयुक्त पहचान पत्र की जांच अनिवार्य
  • चयनित अभ्यर्थियों का नाम प्रकाशन जरूरी
  • काउंसिलिंग पूरा होने के बाद अभ्यर्थियों की उपस्थिति पंजी को नियोजन इकाई द्वारा सीलबंद किया जाएगा
  • पंजी का अवलोकन डीईओ या उनके द्वारा प्राधिकृत पदाधिकारी द्वारा कार्यालय का मोहर पंजी पर लगा दिया जाएगा

Bihar Teacher Recruitment: बिहार में दूसरे चरण की शिक्षक बहाली टली, नई तारीखों के बारे में शिक्षा विभाग की ये है तैयारी

Bihar Teacher Recruitment चार सौ नियोजन इकाइयों के अभ्यर्थियों की भी मेधा सूची को पूरी सतर्कता के साथ तैयार करने को कहा गया है। शिक्षा विभाग ने दूसरे चरण की काउंसिलिंग में पूरी सतर्कता बरतने का निर्देश नियोजन इकाइयों को दिया है।

Bihar Teacher Recruitment बिहार में प्रारंभिक शिक्षकों (Primary teacher recruitment) की बहाली के लिए दूसरे चरण का नया शिड्यूल (New Schedule for second phase counseling) जारी होगा। पूर्व निर्धारित शिड्यूल के तहत दो, चार और नौ अगस्त से शिक्षक अभ्यर्थियों की काउंसिलिंग होनी थी। प्राथमिक शिक्षा निदेशक डा. रणजीत कुमार सिंह (Primary education director Dr Ranjeet Kumar Singh) के निर्देश पर काउंसिलिंग का नया शिड्यूल को अंतिम रूप दिया जा रहा है। शिक्षा मंत्री विजय चौधरी (Education Minister Vijay Kumar Chaudhary) ने नियोजन प्रक्रिया को जल्‍द पूरा करने का निर्देश अधिकारियों को दिया है।

मेधा सूची की सघन जांच के साथ ही वीडियोग्राफी कराने की तैयारी

महत्वपूर्ण बात यह कि पहले चरण की काउंसिलिंग में जिन चार सौ नियोजन इकाइयों में कई प्रकार की गड़बडिय़ां पकड़ी गई थीं, उसे ध्यान में रखते हुए निदेशक ने दूसरे चरण की काउंसिलिंग से पहले प्रत्येक नियोजन इकाई की मेधा सूची का सघन जांच करने और वीडियोग्राफी कराने का आदेश दिया है।

Bihar Teacher Recruitment: 2 August से पहले शिक्षा विभाग में नए शिड्यूल को लेकर तैयारी तेज काउंसिलिंग से पहले मेधा सूची की सघन जांच का आदेश

शिक्षा मंत्री विजय कुमार चौधरी के निर्देश पर संबंधित चार सौ नियोजन इकाइयों के अभ्यर्थियों की भी मेधा सूची को पूरी सतर्कता के साथ तैयार करने को कहा गया है। शिक्षा विभाग ने दूसरे चरण की काउंसिलिंग में पूरी सतर्कता बरतने का निर्देश नियोजन इकाइयों को दिया है। नियोजन इकाइयों की तैयारियों को लेकर प्राथमिक शिक्षा निदेशक ने वीडियो कान्फ्रेंसिंग के माध्यम से सभी जिला शिक्षा अधिकारियों एवं जिला कार्यक्रम अधिकारियों को सख्त निर्देश दिया है।

27 जुलाई को मेधा सूची करनी है सार्वजनिक

27 जुलाई को संबंधित नियोजन इकाइयों द्वारा मेधा सूची का सार्वजनीकरण सुनिश्चित करने को कहा गया है। निदेशक ने काउंसिलिंग के अगले दिन नियोजन इकाई को सभी प्रमाण पत्रों को जिला कार्यक्रम पदाधिकारी को सौंपना होगा, ताकि उन प्रमाण पत्रों को विभागीय वेबसाइट पर शीघ्र अपलोड किया जा सके। यदि इसमें देरी हुई तो संबंधित नियोजन इकाइयों पर कार्रवाई होगी।

Bihar Teacher Recruitment WebsiteClick Here
SpeedJobAlertClick Here

Leave a Comment